दिसंबर 2021 में अमावस्या कब है?

हिंदी पांचांग के अनुसार अमावस्या वो दिन होता है जिस दिन आपको चन्द्रमा की एक झलक भी दिखाई नहीं देती है। साथ ही हिन्दू शास्त्रों के अनुसार अमावस्या के दिन का बहुत अधिक महत्व भी होता है। और माना जाता है की अमावस्या के दिन पूजा पाठ करना, अपने पूर्वजों के नाम पर दान पुण्य करना बहुत ही शुभ होता है साथ ही इस दिन जरूरतमंदों की मदद करनी चाहिए, कोई गलत काम नहीं करना चाहिए, आदि। इसके अलावा अमावस्या को पितरो के दिन के नामा से भी जाना जाता है। इस आर्टिकल में हम आपको दिसंबर 2021 माह में कौन सी अमावस्या आएगी उसके बारे में बताने जा रहे हैं।

कौन सी अमावस्या दिसम्बर 2021 में आएगी?

दिसंबर 2021 में मार्गशीर्ष अमावस्या आएगी क्योंकि उस दौरान मार्गशीर्ष का महीना चल रहा होगा। और मार्गशीर्ष बहुत ही धार्मिक व् पवित्र महीना माना जाता है साथ ही इसका बहुत अधिक महत्व भी होता है ऐसे में मार्गशीर्ष माह में आने वाली अमावस्या का भी बहुत अधिक महत्व होता है।

मार्गशीर्ष अमावस्या का महत्व

शास्त्रों के अनुसार मार्गशीर्ष अमावस्या का दिन बहुत ही पावन होता है इस दिन को भक्ति और श्रद्धा का प्रतिक माना जाता है। मार्गशीर्ष अमावस्या के दिन भगवान कृष्ण की पूजा का बहुत अधिक महत्व होता है। साथ ही इस दिन पितरों के नाम पर पूजा करके अपने पूर्वजों को याद करना भी बहुत शुभ माना जाता है। मार्गशीर्ष अमावस्या के दिन आप अपने मृत पूर्वजों को श्रद्धा अर्पित करके, सभी दोषों को दूर करने और अपने व अपने परिवार के लिए आनंदमय और खुशहाली से भरपूर जीवन का आशीर्वाद पाने के लिए हाथ जोड़कर उनके सामने प्रार्थना कर सकते हैं। साथ ही इस दिन पूजा पाठ के साथ व्रत आदि करने का भी बहुत अधिक महत्व होता है।

क्या करें मार्गशीर्ष अमावस्या के दिन?

  • इस दिन सुबह समय से उठकर किसी पवित्र नदी, जलाशय, कुंड आदि में स्नान करना बहुत शुभ माना जाता है।
  • अमावस्या के दिन अपने पितरों के नाम पर हवन करना, गरीबों को भोजन करवाना, जरूरतमंदों की मदद करना बहुत अच्छा होता है।
  • इस दिन व्रत करने का भी बहुत अधिक महत्व होता है।
  • श्री कृष्ण की पूजा व् आराधना करने के लिए भी यह एक बहुत उत्तम दिन होता है।

मार्गशीर्ष अमावस्या तिथि व् मुहूर्त

मार्गशीर्ष अमावस्या तिथि: साल 2021 में मार्गशीर्ष अमावस्या 04 दिसंबर 2021 दिन शनिवार को पड़ेगी।

अमावस्या तिथि प्रारम्भ: मार्गशीर्ष अमावस्या 03 दिसंबर 2021 दिन शुक्रवार को दोपहर 04 बजकर 55 मिनट पर प्रारम्भ होगी।

अमावस्या तिथि समापन: मार्गशीर्ष अमावस्या 04 दिसंबर 2021 दिन शनिवार को दोपहर 01 बजकर 12 मिनट पर समाप्त होगी।

तो यह है मार्गशीर्ष अमावस्या 2021 में कब हैं, क्या मुहूर्त है, इसका क्या महत्व, अमावस्या के दिन क्या करें, उससे जुडी जानकारी।